अमेरिका ने भारत को बुरी तरह फंसाया है | ईरान के विदेश मंत्री का दावा - See Latest
अमेरिका ने भारत को बुरी तरह फंसाया है | ईरान के विदेश मंत्री का दावा

ईरान के विदेश मंत्री जावद जाफरी ने भारत के दरमियान कहा है की अमेरिका के द्वारा भारत पर लगातार दबाव डालकर भारतीय सरकार को मुर्ख बनाया है | भारत ईरान से तेल व्यापार को लेकर अमेरिका के बेहद भयावह चंगुल में फंस गया है और इससे न सिर्फ भारत और ईरान के बिच मनमुटाव और व्यापारिक रिश्तों पर असर पड़ा है बल्कि देश में तेल के जिस तरह के हालत बने हैं और जिस तरीके से भारत में तेल के दामों में इजाफा हुआ है इसका जिम्मेदार भारत खुद है| अमेरिका के चंगुल में फंसने की वजह से भारत ईरान से तेल व्यापर नहीं कर पाया है और इसका सीधा इस्तेमाल अमेरिका ने किया है |

अमेरिका के चंगुल में फंस चूका है भारत निकलने की जरुरत : मंत्री

ईरान के विदेश मंत्री ने भारत की पालिसी पर जवाब देते हुए कहा है की ईरान भारत का बहुत बड़ा तेल व्यापारिक केंद्र रहा है और पिछले काफी दशकों से तेल को लेकर भारत ईरान के बिच काफी अच्छे सम्बन्ध भी रहे हैं | भारत ईरान से कई दशकों से काफी कच्चा तेल आयत करता आ रहा है लेकिन अमेरिका के प्रतिबंध लगाने की वजह से जिस तरीके से भारत सरकार ने कदम पीछे हटाने शुरू किए हैं इससे साफ़ लगता है की भारत अमेरिका के चंगुल में फंसता जा रहा है|

अमेरिका की नियत बहुत खतरनाक: विदेश मंत्री

विदेश मंत्री ने कहा है की ना सिर्फ भारत बल्कि अमेरिका की सरकार खासकर ट्रम्प सरकार ईरान, रूस और चीन के बीच भी धुरी बन रहा है | अमेरिका की नीति कमजोर को और कमजोर और ख़त्म करने की रही है और वहां की सरकार जबर्दश्ती करने वालो का एक स्कूल है |

india iran relations

ईरान भारत का तीसरा सबसे बड़ा क्रूड आयल सप्लायर रहा है लेकिन जैसे ही अमेरिका ने आठ महीने के प्रतिबंध लगाए हैं भारत के भी तेवर बदले हैं | मंत्री ने ये भी कहा की भारत की भागेदारी बहुत बड़ी है वह चाहे तो इसपर प्रभाव डाल सकता है | इस समय अमेरिका के राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री मोदी की जरुरत है और वो इसको लेकर भी कुछ रिआयत हासिल कर सकते हैं |

ईरान चाहता है  की भारत उसका साथ दे और रिश्तो की अहमियत को निभाए |  भारत ईरान के बीच कई अहम् प्रोजेक्ट्स पर भी इरानियन मंत्री ने ख़ुशी जाहिर की है और भविष्य में और सहयोग की मांग की है |

सम्बंधित और ख़बरों के लिए यहाँ पढ़ें