अयोध्या में राम मंदिर के लिए पैरामिलिट्री की 100 कंपनियां तैनात अतिरिक्त 200 जल्द ! जाने क्या है कहानी

सोशल मीडिया के द्वारा वायरल किये जा रहे मैसेज में यह दावा किया जा रहा है केंद्र सरकार जैसे ही राम मंदिर पर फैसला आने की तरफ सुप्रीम कोर्ट का रुझान हो रहा है एतिहात के तौर पर अयोध्या में केंद्रीय पुलिस बल की कंपनियां भेज चुकी है और अतिरिक्त कंपनियों को भेजने की तैयारी कर रही है |
ज्ञात हो की सुप्रीम कोर्ट जल्द ही अयोध्या में राम मंदिर पर जल्द ही फैसला सुनाने वाला है, दोनों पक्षों की तरफ से कारवाई और सुनवाई पूरी करने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला अभी अपने पास रखा हुआ है और शीघ्र ही राम मंदिर मुद्दे पर फैसला सुना सकता है |

क्या सच में अयोध्या में केंद्रीय पुलिस की 100 कम्पनिया तैनात ?

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक तरफ से कहा गया है की अयोध्या में राम मंदिर के फैसले के मद्देनजर मोदी सरकार ने अयोध्या में केंद्रीय पुलिस की तैनाती कर दी है और अतिरिक्त २०० कंपनियों के भेजने में विचार कर रही है | लेकिन इस बात में ज्यादा कुछ सच्चाई नहीं दिखाई दी है | राम मंदिर की सुरक्षा में पहले से ही CRPF की सुरक्षा है और अभी सुप्रीम कोर्ट या केंद्र सरकार की तरफ से अतिरिक्त सुरक्षा की पहल नहीं की गयी है |
वहीँ एक रिपोर्ट के अनुसार  देशभर की तमाम मस्जिदों में शुक्रवार को जुमे की नमाज़ में मुसलमानों से अपील की गई थी कि अयोध्या मामले का चाहे जो फैसला हो वो अमन कायम रखें उन्हें ना ही खुशियां और ना ही गम मनाने की सलाह मौलवी की तरफ से दी जा चुकी है | मुस्लिम समुदाय को ना ही किसी तरह के प्रदर्शन में शामिल होने को कहा गया है क्योंकि इसी महीने में पैगंबर मोहम्‍म्‍द पैदा हुए थे इसलिए धारिया बरतने को कहा जा चूका है |

वायरल हुए मैसेज में केंद्र सरकार की तरफ से राम मंदिर मुद्दे पर सुरक्षा के तौर पर सी आर पी एफ की १०० टुकड़ियों के अयोध्या में भेजने का दावा अभी किसी तरफ से सच साबित नहीं हुआ है | वही ऐसा कोई भी आधिकारिक न्यूज़ नहीं आयी है और वायरल मैसेज सही नहीं साबित हुआ है | राम मंदिर पर फैसला अभी भी सुप्रीम कोर्ट में लंबित है और हो सकता है भविष्य में ऐसा सुरक्षा के मद्देनजर फैसला लेना पड़े |

CRPF Deployment for Ayodhya Ram Mandir
"विराम मैसेज"- अयोध्या फैसला शीघ्र आ सकता है इसलिए CRPF की 200 और कंपनियों के पहुँचने की आशंका है और अगले 2 दिन में पूरा बॉर्डर सील कर दिया जाएगा।।