'अगर गलत साबित हुई तुरंत वापस कर दूंगी अपना पद्मश्री' सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर फिर बोली कंगना रनौत

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद से सोशल मीडिया पर नेपोटिज्म अर्थात परिवारवाद और गैंगबाजी को लेकर गंभीर बहस चल रही है| जहां एक और दर्शक इस मुद्दे को लेकर बेहद गुस्से में है वहीं कई हस्तियों ने भी सोशल मीडिया पर इसे लेकर अपनी बेबाक राय रखी है| इस मुद्दे को लेकर ख़ास मोर्चा खोलने वाली कंगना रनौत ने एक बार फिर नेपोटिज्म पर अपनी आवाज उठाते हुए कहा है कि अगर वह मामले की जांच में अपने बयानों को साबित नहीं कर पाईं तो वह अपना पद्मश्री वापस (Kangana Ranaut Vouches To return Padma Shri) करने के लिए तैयार हैं| 

दरअसल, एक इंटरव्यू के दौरान कंगना ने बताया कि वे इन दिनों अपने घर मनाली में हैं और सुशांत सिंह राजपूत केस के बाद मुंबई पुलिस ने मुझे बुलाया, क्योंकि मैं इन दिनों मनाली में हूं, इसलिए मैंने उनसे कहा कि क्या आप किसी को मेरे बयान के लिए मनाली भेज सकते हैं? लेकिन इसके बाद मुझे पुलिस ने संपर्क नहीं किया| 

इस बातचीत में कंगना ने दो टूक कहा- मैं आपको बता रही हूं, अगर मैंने कुछ कहा है और उसको मैं साबित नहीं कर सकती और जो सार्वजनिक डोमेन में नहीं है तो मैं अपना पद्मश्री लौटा दूंगी|  क्योंकि फिर मैं इसके लायक ही नहीं हूं| कंगना ने आगे कहा कि मैं वो इंसान नहीं हूं जो ऐसा कुछ कहने के लिए ब्यान देने जाएगा| उन्होंने कहा मैंने जो कुछ कहा है वो सार्वजनिक है| 

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद कंगना की टीम द्वारा ट्विटर पर एक वीडियो डाला गया था जिसमें कंगना ने फिल्म इंडस्ट्री के लोगों पर निशाना साधते हुए कहा कि सुशांत की मौत कोई सुसाइड नहीं बल्कि एक प्लान मर्डर है| कंगना ने कहा, सुशांत ‌सिंह राजपूत कई इंटरव्यूज में ये कह चुके थे कि उन्हें इंडस्ट्री अपना नहीं रही है| जबकि वो लगातार अच्छी फिल्में कर रहे थे| कंगना ने ये भी कहा, सुशांत की पहली फिल्म (काय पो चे) को फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने इज्जत नहीं दी|  इसके बाद ‘एमएस धोनीः द अनटोल्ड स्टोरी’ या ‘छिछोरे’ को भी वैसा सम्मान नहीं दिया गया, जैसा उसे मिलना चाहिए| जबकि ‘गली बॉय’ जैसी वाहियात फिल्म को इतने सारे अवॉर्ड दिए गए| जिसके बाद से ही कंगना द्वारा परिवारवार के खिलाफ खोले गए इस मोर्चे को लेकर वे सुर्खियों मे हैं|